Happy Monsoon

20 July 2020 0

#Monsoon पूछती हो ना मुझसे तुम हमेशा की, मैं कितना प्यार करता हूँ तुम्हे, तो गिन लो.. बरसती हुई इन बूंदों को तुम!

समाजसेवा की संजीवनी बांटता ‘सहयोग’सम्पत्ति और वैभव की चाहत जिस तरह से दिनों दिन बढ़ती जा रही है ठीक उसी समय नि:स्वार्थ सेवा का भाव…

हाथों को बार बार साबुन और पानी से धोए या सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें| खांसते और छीकते समय डिस्पोजल टिश्यू का इस्तेमाल करें | इस्तेमाल…